किसानों के मेहनत की फसल पर फड़ प्रभारी डाल रहे हैं डाका…

पखांजूर डेस्क livempcg.com@:- संचालक समिति किसानों के हक पर डाल रहे हैं डाका,किसानों को हो रहा है भारी नुकसान,बतादे की गोण्डाहुर सहकारी समिति के अंतर्गत 3 धान खरीदी केंद्र संचालित हो रहे,सभी खरीदी केंद्र में फड़ प्रभारी नियुक्ति किया गया है,फड़ प्रभारी एवं डाटा एंट्री ऑपरेटर अपने जेब भरने के लिए किसानों को लूट रहे हैं,किसानों से प्रति बोरा 40 किलो भर्ती में 40 किलो 700ग्राम तौलाई किया जा रहा है, बोरा की वजन 700 ग्राम बता रहे हैं पर किसानों को जो धान बिक्री पर्ची दिया जा रहा है उसमें 39 किलो दरसाया जा रहा है,मतलव किसानों से सीधा सीधा सूक्ति के नाम से प्रति क्विंटल में 2 से 3 किलो धान अधिक लिया जा रहा हूं, साथ ही किसान धान लेकर खरीदी केंद्र पहोचते है तो हमाली भी लूटपाट में पीछे नहीं है शासन प्रति बोरा हमाली 5.50 रु दे रहे हैं फिर भी नियमो को ठेंगा दिखाते हुए किसानों से प्रति क्विंटल में 8 रु बसूला जा रहा है, जिससे किसानों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है,ये सारा लूटपाट संचालक समिति के साठ गांठ से शासन के नियमो का खुलेआम उलंघन कर मनमानी तरीके से खरीदी किया जा रहा हूं,

बतादे की पिछले बुधवार दिनाँक 11/12/19 को जिला कलेक्टर के.एल.चौहान गोण्डाहुर सहकारिता समिती द्वारा संचालित तीनो धान खरीदी केंद्रों का निरीक्षण किया एवं खरीदी केंद्र के संचालक को किसानों की मेहनत की फसल का एक भी दाना ज्यादा नहीं तौलने का सख्त निर्देश दिए।कलेक्टर का निर्देश खरीदी केंद्र का संचालक नापतोल में सही रख रहे हैं मगर प्रति बोरा 40 किलो 700 ग्राम धान के तौल से किसानों को प्रति बोरा 39 किलो के हिसाब से दिया जा रहा है।
अन्नदाताओं के साथ हो रहे लूट पर प्रशासन कितनी गंभीर है वहाँ तो आने वाले वक्त ही बता पाएंगे,साल भर की मेहनत के कमाई पर खरीदी केंद्र के संचालक एवं डेटा ऐंट्री ऑपरेटर डाल रहे डाका और किसानों को लूटकर खुदके जेब भरने की काम कर रहे हैं, जिस पर प्रशासन की निगरानी टीम सुस्ती दिखा रहे हैं जिसके चलते खुलेआम किसानों को ठगा जा रहा है।

मामले में पखांजूर तहसीलदार शेखर मिश्रा ने बताया कि कलेक्टर महोदय का निर्देश अनुसार धान खरीदी किया जाएगा अगर कोई संचालक एवं डाटा एंट्री ऑपरेटर दोसी पाया जाता हैं तो सख्त कार्यवाही किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *